एक फ़ैसला – बेला पुनिवाला: Moral stories in hindi

यशोदा जैसा नाम वैसे गुण और संस्कार, एक छोटा सा परिवार था, जिस में यशोदा उसके सास, ससुर, उसका पति और उसका बेटा जिसका नाम भी माधव ही रखा था, वह सब साथ में रहते थे, यशोदा अपने माधव से बहुत प्यार करती, अपने लाडले बेटे में जैसे उसकी जान बसी हुई थी, पूरा दिन … Read more

अर्द्धांगिनी -अभिलाषा कक्कड़: Moral stories in hindi

शोभा जैसे ही फ़ोन बन्द करके मुड़ी तो एक दम से सामने पति राकेश को देख कर डरी और फिर चिल्ला कर बोली… हे भगवान पता भी है तुम्हें कि मैं डर जाती हूँ । आते हो तो कोई खटका ही कर दिया करो ताकि मेरे दिमाग़ को पता हो कि तुम आसपास हो । … Read more

जो मेरे साथ हुआ वो तुम्हारे साथ नहीं होगा बेटा- प्राची संकेत  : Moral stories in hindi

मां मां जानकी ने आवाज लगाते हुए कहा तो प्राची की नींद टूटी मां आप ये नींद में क्या कह रही थी कि जो मेरे साथ हुआ बो तुम्हारे साथ नहीं होने दूंगी मेरी बच्ची,  प्राची ने कहा -कुछ नहीं बेटा ओर     बात को टालते हुए पूछा अच्छा ये बताओ कैसी रही आज … Read more

मेरी बिट्टो – करूणा मलिक  : Moral stories in hindi

 अरे  बिट्टो ! बुढ़ापे का शरीर है । थोड़ी खाँसी- जुकाम तो लगा ही रहता है । तू चिंता ना कर । गीता है ना मेरे पास , सँभाल लेती है । कैसी बात करती हो अम्मा , बासठ साल में भी कोई इतना बूढ़ा होता है ? आपने देखा था ना यहाँ अस्सी साल … Read more

लड़के वाले सीजन -3 (भाग – 13) : Moral Stories in Hindi

Moral Stories in Hindi : जैसा कि आप सबने अभी तक पढ़ा कि शुभ्रा की होने वाली सासू माँ ने उसके लिए उसकी पसंद का जेवर ले लिया हैँ… उमेश और शुभ्रा की शादी में दिन भी कुछ ज्यादा नहीं बचे हैँ…. कभी दादा जी कभी शुभ्रा की माँ बेटी का ब्याह पास आते देख … Read more

नया सवेरा – प्रतिभा परांजपे  : Moral Stories in Hindi

Moral Stories in Hindi : दोपहर के तीन बजे थे। बेटे  सोनू की बस का हार्न सुन रश्मि बाहर आयी,तो देखा मकान  मालकिन स्मिता आंटी औरसोनू बाते कर रहे हैं । सोनू का बस्ता,वॅाटर बैग लेने रश्मि उनके पास गई ,आंटी के हाथ मे अखबार था। रश्मि को‌ देख वे खुशी से चहक कर बोलीं … Read more

कर्मों का लेखा – जोखा – रश्मि सिंह : Moral Stories in Hindi

Moral Stories in Hindi : राधिका-अभिनंदन आप पीछे क्यों बैठे हो, आगे आकर बैठो। सार्थक तुम पीछे जाओ। सार्थक-पर मैम आज तो मेरा टर्न है आगे बैठने का। राधिका-अभिनंदन को देखने में थोड़ा दिक़्क़त होती है इसलिए इसे आगे बैठाया जाता है। सार्थक अपना बैग लेकर पीछे चला गया।  राजीव-सार्थक तुम अभी नये हो स्कूल … Read more

रिश्तों का नया दौर – रश्मि सिंह : Moral Stories in Hindi

Moral Stories in Hindi : सचिन-माँ मैंने रागिनी (सचिन की बहन) का कार्ड आपको ह्वाट्सऐप कर दिया है, आप अपने सारे ग्रुप और दोस्तों को भेज देना।  संतोषी (सचिन की माँ)-मेरा कोई ग्रुप नहीं है, घर जाकर कार्ड देकर आयूँगी, और पहला कार्ड तो  मामा को देना था, उसके बाद ही दूसरों को कार्ड बाटना … Read more

एक रुपैय्या – किरण केशरे : Moral stories in hindi

Moral stories in hindi: ऋतु भाभी का अभी अभी फोन आ गया था, जीज्जी , शैल दी और आप कब तक आ रही हो,,,! फिर मुझे भी तो अपने भाई के यहाँ जाना है,,,शहर में ही मेरा मायका है तो क्या  हुआ !! भाभी की आवाज में अपनापन कम कर्तव्य पुरा करने का आभास ही … Read more

परिवर्तन प्रकृति का नियम – रश्मि सिंह : Short Moral stories in hindi

Short Moral stories in hindi  :सुषमा-देखो जरा आज मेघा विदाई में कितना रो रही है, पर कल जहां पति का प्यार मिला, वही भूल जाएगी अपनी माँ को।  अर्चना-और नहीं तो क्या। कहते है शादी के बाद लड़कों में ही बदलाव आता है ऐसा नहीं है लड़कियाँ भी अपना पीहर भूल जाती है।  रोहित (मेघा … Read more

error: Content is Copyright protected !!