धोखे से मिला सबक – अमिता कुचया : Moral stories in hindi

शैली आज मायके जा रही थी। वहीं  उसकी जेठानी का भी मायका था ।वो सोचने लगी भाभी के साथ चली जाऊं। उसने अपने पति से पूछा -“मैं अपनी भाभी के साथ मायके चली जाऊं? मेरी भतीजी निया का आज बर्थडे है, वो मेरे अचानक पहुंचने बहुत खुश होगी कि बुआ ने आज सरप्राइज़ दे दिया।भाभी … Read more

सासु बिना ससुराल – अमिता कुचया : Moral stories in hindi

आज के समय में सब लड़कियों के अरमान होते हैं।कि ससुराल बहुत अच्छा मिले।परिवार भी छोटा हो। ऐसा ही सोचकर नीलू के माता-पिता ने उसकी शादी कर दी, सब ननदों की शादी हो गई है। लड़कों में सबसे छोटा बेटा दामाद ही है ।बड़े भाई अलग रहते हैं ,कोई दिक्कत नहीं होगी। सबसे छोटा बेटा … Read more

आपसी तालमेल – अमिता कुचया : Moral stories in hindi

आज रैना की बिटिया रो रही थीं।तभी उसकी सास कमरे से निकलते ही बोली- ” रैना बहू तेरा ध्यान किधर रहता है? एक तो मेरी मुनिया बिटिया रो रही है और इधर दूध की नदिया बहा दी। “ तब रैना ने कहा- “मम्मी जी मेरी बहन का फोन आ गया।तो ध्यान से निकल गया और … Read more

दूरियां दिलों की मिटाना है – अमिता कुचया : Moral stories in hindi

रेनू मां मां ••••चिल्लाते हुए अंदर‌ आई बोली मां मैं आ गई ••• अरे मेरी प्यारी मीसा बेटू कहां है •••रेनू के कहते ही तब उसकी मां बोली- “अरे बेटा चैन की सांस लेकर थोड़ी बैठ तो जा …और चाय ,पानी पी ले। फिर बुला लेना।” हां- हां मां मैं पानी पी लूंगी।और चाय भी … Read more

जब तेरी भाभी जिम्मेदार है तो तू क्यों नहीं!!! – अमिता कुचया  : Moral stories in hindi

आज निया अपनी मां को फोन‌ तीन- चार बार लगा चुकी थी, उसे बहुत झुंझलाहट हो रही थी कि मां फोन‌ क्यों नहीं उठा रही हैं ,उसने भाभी को फोन मिलाया और भाभी ने भी फोन नहीं उठाया क्योंकि वह किचन में काम कर रही थी।अब उसकी  भाभी खाना पीना का काम करके कमरे में … Read more

सर्विस वाली बहू सुहागन जैसी दिखती ही नहीं!- अमिता कुचया : Moral stories in hindi

रीना सर्विस करने वाली बहू है।वह एक कंपनी में बहुत बड़ी पोस्ट पर है।और उसे तो सजने संवरने का भी शौक नहीं है ,वह शादी से पहले भी सादगी से रहती थी। उसे ससुराल में ज्यादा रहने का मौका नहीं मिला ,क्योंकि घर से दूर दूसरे शहर में उसकी और उसके पति की नौकरी होने … Read more

संयुक्त परिवार की अहमियत – अमिता कुचया : Moral stories in hindi

Moral stories in hindi

मधु बहुत ही शांत स्वभाव वाली बहू है ,उसकी नयी नयी शादी हुई थी उसके मायके का माहौल बिल्कुल विपरीत था,जिस कारण से उसे शोरगुल होता रहे तो बिल्कुल भी अच्छा नहीं लगता।उसे मानसिक अशांति सी महसूस होने लगती, लेकिन जब से ससुराल आई तो उसे यहां पर वैसा माहौल नहीं मिला। जैसा वो चाहती … Read more

आखिर डर से जीत हुई ….. – अमिता कुचया : Moral stories in hindi

संजना के आज घर लौटने पर सास को बहुत चिंता होती है ,रात के साढ़े नौ बज चुके थे। और लता जी की नजरें बार -बार घड़ी की ओर जा रही थीं। फिर जब वो अपने बेटे जीतू से पूछती हैं -“क्यों बेटा आज संजना क्यों लेट हो गई?जरा फोन तो लगा , संजना क्यों … Read more

अपनत्व भरा रिश्ता खोखला ही निकला – अमिता कुचया : Moral stories in hindi

आज आसपड़ोस का हमारे जीवन पर बहुत ही प्रभाव पड़ता है, हम अनायास ही किसी की तरफ खिंचे चले जाते है। ऐसी ही मेरी सहेली शिवानी थी। शिवानी को लगता था कि उसके अंकल आंटी बहुत अच्छे हैं। उनके व्यवहार से लगता ही नहीं था, कोई वे गैर है या अपने नहीं है, धीरे- धीरे … Read more

सास का रवैया – अमिता कुचया : Moral stories in hindi

आज नीलम घर लौट रही थी।उसे लग रहा था। समय चक्र भी इतिहास दोहराता है उसे सब एक- एक करके बातें याद आ रही थी जो उसने कल और आज देखा न जाने आने वाला कल क्या दिखाए•••• नीलम वो यादों में खो गई।जब उसकी शादी हुई तो उसे सिर ढकने कहा जाता था। एक … Read more

error: Content is Copyright protected !!