गुरुर – श्रद्धा खरे : Moral Stories in Hindi

शारदा की शादी के कुछ महीने बाद ही उसके देवर मदन की शादी हुई ,और शारदा को घर में एक छोटी बहन के रूप में  कृष्णा मिली ।        दोनों की आपस में बहुत बनती थी, घर के कामों को दोनों मिलजुल कर पूरी लगन से करती  सास ,ननद देवर सब यही कहते  कि इन दोनों … Read more

बहू की समझदारी से रिश्ता बच गया –   हेमलता गुप्ता: Moral Stories in Hindi

मम्मी…. खुशखबरी है आपके लिए, आप फिर से दादी बनने वाली हैं, डॉक्टर ने इस बार किरण को कंप्लीट आराम करने के लिए कहा है,  मम्मी आप कल की ट्रेन से ही आ जाइए। लेकिन बेटा…. यहां तेरे पापा भी ऑफिस जाते हैं, मेरे बिना उनका क्या होगा..,? अरे मम्मी.. छोड़ो सब, आपकी जरूरत यहां … Read more

हमसफ़र… तुम देना साथ मेरा… – रीतु गुप्ता  : Moral Stories in Hindi

कपिल ने रिद्धि को दवाई दी और सुलाने लगा ,वो उसके सर को प्यार से सहला रहा था… कुछ ही मिंटो में रिद्धि सो गयी। कपिल रिद्धि के माथे पर किस कर.. अपनी परी के झूले के पास आ गया ।झूले मे गुड़िया सो रही थी। कपिल उसकी छोटी सी उंगुली को सहलाते हुए बोला.. … Read more

नाराजगी की सीमा – अंजना ठाकुर  : Moral Stories in Hindi

आज विधि फिर गुस्से मै घर छोड़ कर आ गई थी उसे यकीन था की राजेश उसे मनाने आयेगा और उसे और बच्चे को वापस ले जायेगा । पर इस बार उसे आए दो दिन हो गए राजेश का न कोई फोन आया ना वो खुद गुस्से मै विधि ने भी बात नहीं करी । … Read more

हमसफ़र – साधना वैष्णव : Moral Stories in Hindi

सुबह राधिका देवी की हृदयाघात से मृत्यु हो गई थी । उनकी अंतिम यात्रा में शामिल होने सगे-संबंधी, मित्रगण और मुहल्ले वासी इकट्ठे हुए थे। उनके बेटे और बेटियों का रो-रोकर बुरा हाल था। सबकी आँखें उनके करूण-क्रन्दन से भीग चुकी थीं लेकिन ऐसे भी एक इंसान वहां मौजूद थे न तो वह रो रहे … Read more

ज्योति की आशा – डॉ. उषा यादव : Moral stories in hindi

सुबह सुबह ज्योति सोकर उठती है…तो सुनती है मां कुछ कह रही है… इस तरह से कब तक सोती रहेगी ससुराल में तेरी कैसे निभेगी। ज्योति उठते-उठते कहती है “ आपको तो हमेशा मेरी शादी की ही पड़ी रहती है। अभी मुझे पढ़ना है, कुछ बनना है तब जाकर मैं शादी करूंगी। ये सब सुनते … Read more

अटूट रिश्ता – संगीता अग्रवाल  : Moral stories in hindi

“क्या बात है मानसी तुम इतनी उखड़ी उखड़ी और गुमसुम क्यों रहती हो आजकल ?” हर्ष ने अपनी पत्नी से पूछा ” कुछ नहीं आप ये टिफिन लीजिए और ऑफिस जाइए !” मानसी बिना हर्ष की तरफ देखे टिफिन देती हुई बोली। हर्ष को अजीब लगा पर अभी ऑफिस का वक़्त हो रहा था तो … Read more

रिश्ते हमेशा बराबर वाले से बनाने चाहिए – नीलम शर्मा  : Moral stories in hindi

सिया रामाकांत जी की इकलौती बेटी थी। उनका एक मध्यम वर्गीय परिवार था। रमाकांत जी एक छोटी सी कपड़े की दुकान चलाते थे। आमदनी ठीक थी। अच्छी तरह से जीवन-यापन हो रहा था।  सिया एक खूबसूरत और संस्कारी लड़की थी। उसका कॉलेज का अंतिम वर्ष था और हर मां-बाप की तरह रमाकांत जी भी अपनी … Read more

इंद्रधनुष – मंजू सक्सेना : Moral stories in hindi

मेहमानों की गहमागहमी, हँसी-मज़ाक और शोरशराबे के बीच जैसे ही सुनील ने वधू वेश मे बैठी कामिनी की उँगली मे अँगूठी सरकाई कि सारा कमरा तालियों से गूँज उठा।कामिनी ने लजा कर झट धीमे से हाथ खींच लिया और पास खड़े सागर के नथुनों से एक गहरी राहत भरी साँस बाहर निकल कर फैल गई। … Read more

सुखा चावल   : Moral stories in hindi

अब देख ना बेटा… कल की पार्टी में ही बहु स्वीटी की कितनी तारीफ हो रही थी…. वो तो हमारा स्टैंडर्ड इतना हाई है कि… लोगों को खूबसूरत बना ही देता है… वो महंगी साड़ी , कीमती ज्वेलरी , टॉप मोस्ट ब्यूटी पार्लर की सजावट …..!      वरना जब शादी करके आई थी ना स्वीटी …तो … Read more

error: Content is Copyright protected !!